शनिवार, 13 अप्रैल 2013

पथरी का उपचार...


          
            मित्रों, जिसको भी शरीर मे पथरी है वो चुना कभी ना खाएं ! (काफी लोग इसे पान मे डाल कर खाते हैं ) क्योंकि पथरी होने का मुख्य कारण आपके शरीर मे अधिक मात्रा मे कैलशियम का होना है | इसका मतलब जिनके शरीर मे पथरी हुई है उनके शरीर मे जरुरत से अधिक मात्रा मे कैलशियम है लेकिन वो शरीर मे पच नहीं रहा है , इसलिए आप चुना खाना बंद कर दीजिए

आयुर्वेदिक उपचार...
            सबसे पहले आप सोनोग्राफी करवा के पता करें की पथरी कि साइज़ की है | इसके बाद पखानबेद नाम का एक पौधा होता है जिसे कुछ लोग पथरचट भी बोलते है उसके पत्तों को पानी मे उबालकर काढ़ा बना ले और आधा-आधे या एक कप काढ़ा रोज पीएं और फिर 15 दिन बाद सोनोग्राफी करवाइए ।  मात्र 7 से 15 दिन मे पथरी खत्म हो जायेगी या फिर टूट कर आधी हो जायेगी । कई बार ये जल्दी भी खत्म हो सकती है ।

होमियोपेथी उपचार...
            अब होमियोपेथी मे एक दवा है जो आपको किसी भी होमियोपेथी के दुकान पर मिल सकेगी उसका नाम हे- BERBERIS VULGARIS  ये दवा के आगे लिखना है MOTHER TINCHER. ये उसकी पोटेंसी हे जिससे वो दुकानदार आपकी आवश्यकता समझ जायेगा, इस दवाई को होमियोपेथी की दुकान से ले आइये|

            (ये BERBERIS VULGARIS दवा भी पथरचट नाम के पोधे से बनी है बस फर्क इतना है कि ये dilutions form मे हैं पथरचट पोधे का botanical name BERBERIS VULGARIS ही है )

             अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप गुनगुने पानी मे मिलाकर दिन मे चार बार (सुबह,दोपहर,शाम और रात) लेना है । चार बार अधिक से अधिक और कम से कम तीन बार तो इसको लगातार एक से डेढ़ महीने तक लेना ही है, कभी कभी उपचार में दो महीने भी लग सकते हैं |

            इससे मरीज के शरीर में जितने भी stone है चाहे वो गोलब्लेडर (gall bladder ) मे हों या फिर किडनी मे या फिर युनिद्रा के आसपास हो अन्यथा मुत्रपिंड मे हो ये सभी स्टोन को पिघलाकर मूत्र मार्ग से शरीर से बाहर निकाल देता हे । इस अवधि में पानी अधिक से अधिक पिएं ।

            99% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब पथरी टूट कर निकल जाती ह, कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी लग जावे इसलिये आप दो महिने बाद सोनोग्राफी
अवश्य करवा लें जिससे कि आपको पता चलता रहे कि स्टोन कितना टूट चुका है और कितना बाकि रह गया है । अगर रह गया हो तो थोड़े दिन और यह होम्योपैथी दवा ले लीजिए । इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं है ।

            ये तो हुआ जब stone टूट के निकल जावे उसका इलाज, अब दोबारा भविष्य मे यह ना बने उसके लिए क्या ? क्योंकि कई लोगो को बार बार पथरी होती है, इसके लिए एक और होमियोपेथी मे दवा है CHINA 1000 प्रवाही स्वरुप की इस दवा क एक ही दिन सुबह-दोपहरशाम मे दो-दो बूंद सीधे जीभ पर डाल दीजिए ।  सिर्फ एक ही दिन मे तीन बार ले लीजिए फिर भविष्य मे स्टोन कभी भी नहीं बनेगा|

अमर शहीद राजीवजी दीक्षित जी के संकलन से...


6 टिप्‍पणियां:

  1. सार्थक प्रस्तुति . हार्दिक आभार नवसंवत्सर की बहुत बहुत शुभकामनायें हम हिंदी चिट्ठाकार हैं

    BHARTIY NARI
    PLEASE VISIT .

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही अच्छी जानकारी दी आपने । चिकित्सा की प्रचलित सभी पद्धतियों में इसके उपचार के उपाय से यह पन्ना और भी उपयोगी हो गई है । शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत ही अच्छी जानकारी दी आपने

    उत्तर देंहटाएं
  4. Hello Sir,
    One month back I have transferred Rs,500/- in Shri Sushil Bakliwal Account as given in this site for sending Homeopathic Medicine for Pathri Treatment. Till date no medicine has been received by me.

    Anita Vij
    New Delhi

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अनिताजी,
      यह पैसे भेजते समय न तो आपने कोई ई-मेल मुझे भेजी और न ही कोई मोबाईल सम्पर्क ही किया जबकि न सिर्फ ये दोनों विकल्प यहाँ मौजूद हैं बल्कि पैसे भेजने वालों से ये अनुरोध भी इसी पोस्ट में है कि आप अपने नाम-पते और मोबाईल नं. के साथ मुझे अलग से सूचित भी अवश्य करें । अब आपसे अनुरोध है कि ये पैसे उपरोक्त खाते में जमा करने की जो बैंक स्लिप आपको मिली है उसकी स्केन प्रति मेरे ई-मेल पर या जेराक्स प्रति डाक से मेरे पोस्टल एड्रेस पर अलग से भेजकर मूझे सूचित करें । कष्ट के लिये क्षमा सहित...

      हटाएं
  5. मेरी अंडकोष दाई गोली सूजन काफी कौन सी दवा य क्रीम प्रयोग करे सर....

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमल्य प्रतिक्रियाओं के लिये धन्यवाद...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...