उचित खान-पान





शाम को चावल, दही, मूली न खाया कीजिये,
गर सुबह मिल जाये तो हर्गिज न छोडा कीजिये.

दाल-चावल को सभी खाते हैं सीधे से उबाल,
हर किसी सब्जी को ऐसे ही बनाया कीजिये.

कोई भी सामान मैदे का बना, हाजिम नहीं,
पेट को मिर्ची से जितना हो बचाया कीजिये.

मौसमी हर फल है रखता, आपकी सेहत दुरुस्त,
जिस भी कीमत पर मिले, इन सबको खाया कीजिये. 

साथ खाने के जरा पानी भी पीना है मुफीद,
बाद खाने के जरा सा गुड भी खाया कीजिये.

दोपहर भोजन के बाद, थोडा सा आराम हो,
शाम को भोजन के फौरन बाद टहला कीजिये.

जितना सादा-औ-कुदरती हो सके भोजन करें,
सौंफ, जीरा, आंवला, नींबू न भूला कीजिये.

पेश्तर खाने के अदरक-औ-नमक खाया करें,
लाल गाजर, हरा धनिया, खूब खाया कीजिये.

तबियत न हो खाने की गर, तो कतई मत खाईये,
जब कभी भी हो सके, उपवास रखा कीजिये.

खाना खाकर जल न पीना, और न जब भूख हो,
अच्छे पाचन के लिये यह याद रखा कीजिये.

फायदे यूं बहुत हैं, सच बात तो है यह 'फिदा',
जो पच सके आराम से, बस वो ही खाया कीजिये.

'फिदा बनारसी'

SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

13 टिप्पणियाँ:

  1. बहुत ही उपयोगी जानकारी पूर्ण काव्य...

    जवाब देंहटाएं
  2. वाह!! काव्यमय खाद्य टिप्स!! स्वास्थ्यवर्धक जानकारी!!

    जवाब देंहटाएं
  3. रचना रूप में खानपान के बारे में ज्ञानवर्द्धक उम्दा प्रस्तुति...आभार

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत ही उपयोगी जानकारी... आभार

    जवाब देंहटाएं
  5. सुन्दर रचना .
    लेकिन इन बातों से सहमत नहीं --
    शाम को चावल ,दही , मूली न खाया कीजिये

    जवाब देंहटाएं
  6. आपने 'फ़िदा' की कविता की प्रस्तुति पर हम फ़िदा हुए सुशीलजी.
    बहुत उपयोगी बातें बताई गयीं है.
    सुन्दर प्रस्तुति के लिए आभार.
    मेरी नई पोस्ट पर आपका स्वागत है.

    जवाब देंहटाएं
  7. आपके स्नेहिल शुभकामनाओं के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.
    इस ज्ञानवर्धक काव्यमयी प्रस्तुति के लिए आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    जवाब देंहटाएं
  8. ज्ञानवर्धक जानकारी देती रचना |बहुत अच्छी लगी
    आशा

    जवाब देंहटाएं
  9. आज फ़िर खेली है हमने लिंक्स के साथ छुपमछुपाई चर्चा में आज नई पुरानी हलचल
    आपकी एक पुरानी पोस्ट...

    जवाब देंहटाएं
  10. आपकी पोस्ट की चर्चा सोमवार १/०८/११ को हिंदी ब्लॉगर वीकली {२} के मंच पर की गई है /आप आयें और अपने विचारों से हमें अवगत कराएँ / हमारी कामना है कि आप हिंदी की सेवा यूं ही करते रहें। कल सोमवार को
    ब्लॉगर्स मीट वीकली में आप सादर आमंत्रित हैं।

    जवाब देंहटाएं

आपकी अमल्य प्रतिक्रियाओं के लिये धन्यवाद...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...